Jesús Vidaña Story | 3 Mexican Fishermen Recount 9 Months Adrift At Sea

You are currently viewing Jesús Vidaña Story | 3 Mexican Fishermen Recount 9 Months Adrift At Sea
Jesús Vidaña Story
Jesús Vidaña Story

Skip to Hindi Version


Quick Introduction


This story is very inspirational about how three people get stuck in the sea for nine months, yet they entertain and motivate themselves and survived.


Story Begin From Here


The story begins on Oct. 28, 2005 when five people went fishing from Mexico. Their mission was to catch sharks.

Story of Jesús Vidaña
Story of Jesús Vidaña

When they were a short distance away, their boat got hit with a large object, causing their shark-fishing tackle to fall. They search for tackle a lot, due to which the fuel of the ship gets reduced considerably.


they lost their way


The wind was blowing very fast and due to which they went into the deep sea at a distance of about 5000 miles. The owner of the boat, whose name was Juan David, and another fisherman called “El Farsero,” both died of starvation. The rest of the three fishermen bury their bodies in the sea.

Now only three men were present in the boat. Salvador Ordóñez, Jess Vidaña and Lucio Rendón. All three men used to eat seabirds for food and used to sing songs to entertain. Of those three, Salvador Ordóñez was the most ready-to-go man, and he used to read the Bible throughout the journey.


they built their own tackle


They had already lost their fishing tackle, so they made a tackle from some parts of the engine from which they used to catch fishes or seabirds. Salvador Ordóñez was called a “cat” by the other two men because Salvador was quick and hunted like a cat.

3 Mexican fishermen got stranded in sea for nine months
3 Mexican fishermen got stranded in sea for nine months.

From Oct. From 28, 2005 to August 9, 2006, they were stranded in the sea. Can you believe how they survived nine months in the middle of the ocean in such conditions?


they convert their hard times into entertain


All three of them had a lot of courage, because of that they had survived nine months. They had somewhere learned to live in that critical environment.

Those men used to eat raw fish and birds, drank the fish’s blood, and used to collect rainwater and drink it. When all three were bored, they sang ballads, imitated playing the guitar, and read the Bible aloud.

The most difficult time in the whole nine months came in December and January when the storm was very heavy, and they were facing a lot of fishing problems. They spent only 13 days in 9 months in which all three of them had to spend the day sharing only one seabird.


Hindi Version


छोटा सा Introduction


यह कहानी बहुत प्रेरणादायक है कि कैसे तीन लोग नौ महीने तक समुद्र में survive करते हैं, फिर भी वे खुद का मनोरंजन करते हैं और खुद को motivate रखते हैं।


कहानी यहाँ से शुरू होती है।


कहानी 28 अक्टूबर 2005 को शुरू होती है, जब पांच लोग अपनी boat से मेक्सिको से मछली पकड़ने गए थे। उनका मिशन था शार्क को पकड़ना।

जब वे थोड़ी दूरी पर थे, तो उनकी नाव एक बड़ी सी कोई वस्तु से टकरा गई, जिससे उनका शार्क-मछली पकड़ने वाला टैकल गिर गया। वे टैकल (मछ्ली पकड़ने का tool) की बहुत तलाश करते हैं, जिससे जहाज का ईंधन काफी कम होता गया।


वे रास्ता से भटक गए।


हवा बहुत तेज चल रही थी जिसके कारण वे करीब 5000 मील की दूरी पर गहरे समुद्र में अंदर चले गए। नाव का मालिक, जिसका नाम जुआन डेविड था, और एक अन्य मछुआरा जिसे “एल फरसेरो” कहा जाता था, दोनों भूख से मर गए। बाकी तीनों मछुआरे ने उनके शवों को समुद्र में दफना दिया।

अब नाव में केवल तीन आदमी ही मौजूद थे। Salvador Ordóez, Jess Vidana and Lucio Rendon। तीनों आदमी खाने के लिए समुद्री पक्षी पकड़ते थे और मनोरंजन के लिए गीत गाया करते थे। उन तीनों में से, Salvador Ordóez सबसे तैयार व्यक्ति था, और वह पूरी यात्रा में बाइबल पढ़ता था।


उन्होने खुद का बनाया मछ्ली पकड़ने का हथियार।


वे पहले ही अपना मछली पकड़ने का सामान खो चुके थे, इसलिए उन्होंने इंजन के कुछ हिस्सों से एक टैकल बनाया जिससे वे मछलियाँ या समुद्री पक्षी पकड़ते थे। Salvador Ordóez को अन्य दो पुरुषों द्वारा “बिल्ली” कहा जाता था क्योंकि Salvador फुर्ती से और बिल्ली की तरह शिकार करता था।

28 अक्टूबर 2005 से 9 अगस्त 2006 तक वे तीनों समुद्र में फंसे रहे। क्या आप विश्वास कर सकते हैं कि वे नौ महीने समुद्र के बीच में ऐसी परिस्थितियों में कैसे जीवित रहे होंगे?


मुश्किल समय मे सीख लिया था जीना।


उन तीनों में बहुत हिम्मत थी, जिसकी वजह से वे नौ महीने तक जीवित रहे थे। उन्होंने कहीं न कहीं उस कठिन माहौल में रहना सीख लिया था।

वे लोग कच्ची मछली और पक्षी खाते थे, मछली का खून पीते थे, और बारिश का पानी इकट्ठा करके पीते थे। जब तीनों ऊब जाते थे , तो आपस मे गाना गाया करते थे, कोई एक गिटार बजाने की नकल किया करता था , और Salvador ज़ोर से बाइबल पढ़ते थे।

पूरे नौ महीनों में सबसे कठिन समय दिसंबर और जनवरी में आया जब तूफान बहुत तेज़ आया था, और उन्हें मछली पकड़ने की बहुत समस्या का सामना करना पड़ रहा था। उन्होंने 9 महीनों में केवल 13 दिन बिताए जिसमें उन तीनों को केवल एक समुद्री पक्षी share करके survive करना पड़ा।


If you loved reading this Inspirational story of Jesús Vidaña Story, then please share with your friends and also drop your comments in below box.

Read Also:

Leave a Reply